Parvat Ka Paryayvachi Shabd यहां पर मिलेगा

Parvat Ka Paryayvachi Shabd

Parvat Ka Paryayvachi Shabd Kya Hai? क्या आप इस प्रश्न के उत्तर को ढूंढ रहे हैं? आपको इस वेबसाइट पर सही उत्तर मिलेगा.

Parvat Ka Paryayvachi Shabd
Parvat Ka Paryayvachi Shabd

पर्वत शब्द के समान अर्थ रखने वाले शब्द को पर्वत का पर्यायवाची शब्द कहते हैं. आइए पर्वत के सभी पर्यायवाची शब्दों को जानते हैं.

Parvat Ka Paryayvachi Shabd Kya Hai?

पर्वत के 12 पर्यायवाची शब्दों निम्नलिखित लिखा गया है

  • अचल
  • नग
  • भूधर
  • महिधर
  • शैल
  • नगपति
  • शिखर
  • अद्री
  • तुंग
  • धरणीधर
  • पहाड़
  • गिरी. 

Parvat Relevant Hindi To English Meaning 

  • अचल – Immovable
  • नग – mountain / precious stone
  • भूधर – mountain
  • शैल – mountain
  • नगपति – the Himalayas
  • शिखर – the peak of a mountain
  • तुंग – high / tall / top
  • धरणीधर
  • पर्वत – mountain / hill
  • पहाड़ – the mountain
  • गिरी – mountain / hill. 

पर्वत का पर्यायवाची शब्द – निष्कर्ष

पर्वत के मुख्य पर्यायवाची शब्द शिखर, अद्री, पहाड़, अचल, नग, भूधर आदि हैं. पर्वत का समानार्थी या पर्यायवाची शब्दों का प्रयोग करें तो ध्यान रखें कि भाषा के अनुरूप ही करें.

प्रसिद्ध पर्यायवाची शब्द Animals Paryayvachi Relatives Paryayvachi पर्यायवाची शब्दों को अक्षर से खोजें Class Wise Paryayvachi Download Free Paryayvachi e-Book

अगर आपको पर्यायवाची शब्दों का PDF वर्जन ई-बुक चाहिए तो आप Free डाउनलोड कर सकते हैं. इसके लिए किसी प्रकार का शुल्क देने की आवश्यकता नहीं है.

Click For Latest Posts

 

पर्यायवाची शब्द क्या होता है?

समान अर्थ रखने वाले शब्द पर्यायवाची शब्द कहलाते हैं. चूँकि इनके अर्थ में समानता अवश्य रहती हैं. परंतु इनका प्रयोग विभिन्न प्रकार से होता है.

पर्यावाची शब्दों के प्रकार
  • आचार्य रामचंद्र शुक्ल के अनुसार, पर्यायवाची शब्द तीन प्रकार के होते हैं.
  • पूर्ण – वाक्य में यदि एक शब्द के स्थान पर दूसरे शब्द को रखा जाए उसके अर्थ में कोई अंतर न पड़ता हो, तो वह शब्द उसका पूर्ण पर्याय कहलाता है.
  • पूर्णापूर्ण – दूसरे शब्दों में जब एक प्रसंग का समानार्थी शब्द दूसरे प्रसंग में असमानता अर्थ का बोध स्पष्ट करता हो तो उस शब्द को पूर्णापूर्ण पर्याय कहते हैं.
  • अपूर्ण – कोई भी व्यक्ति शब्दों के अर्थ की छाया बदल-बदल कर अपने-अपने ढंग से प्रयोग करता है और उसके विषय की व्यापकता के परिपेक्ष्य में उसी शब्दों का प्रयोग नये में अर्थ में होने लगता हो, उस शब्द को अपूर्ण पर्याय कहते हैं.
पर्यायवाची शब्द का प्रयोग क्यों होता है?

पर्यायवाची शब्द का प्रयोग विभिन्न प्रकार से होता है. जिसके कारण एक ही व्यक्ति अथवा वस्तु का नाम उसके विभिन्न गुणों एवं धर्मों के अनुरूप करना होता है.

क्योंकि एक ही नाम सभी स्थानों पर उपयुक्त नहीं होता है.

पर्यायवाची शब्द का प्रयोग सावधानी पूर्वक करना चाहिए

कामिनी-जगत एवं नारी-जगत दोनों ही पर्यावाची शब्द हैं. कामिनी जगत के जगह नारी जगत का प्रयोग करना कितना हास्यास्पद है.

इसीलिए कहा जाता है कि पर्यायवाची शब्दों के सही मतलब समझिए. तभी पर्यायवाची शब्द का प्रयोग उसके विभिन्न गुणों एवं धर्मों के अनुरूप करें.

close

You cannot copy content of this page