म – अक्षर से पर्यायवाची शब्द

अक्षर से पर्यायवाची शब्द निम्नलिखित हैं. 
  • मन्दन- मंद, धीमा, अद्रुत, अशीघ्र, वेग-हीन. 
  • मन्दिर- देवगृह, देवस्थान, देवालय, ईशगृह. 
  • मण्डित- सज्जित, सुसज्जित, समलंकृत, विभूषित, सुशोभित, अलंकृत. 
  • मंगल- उपकार, परोपकार, भला, भलाई, कल्याण, हित, नेकी.
  • मंजुल- मनोरम, मनोहर, मनहर, लुभावन, चिन्ताकर्षक. 
  • मधु- शहद, मकरन्द, मदिरा, माक्षिक, वसन्त-ऋतु, शराब, कुसुकासव, पुष्पासव, चैत्यमास. 
  • मक्कार- दगाबाज, छली, वंचक, धूर्त, खोटा. 
  • मक्खन- माखन, दीधसार, नवनीत. 
  • मन्थन- अवगाहन, संघर्षण, बिलोना. 
  • महादेव- शिव, शंकर, शम्भु, हर, महेश, वामदेव, चंद्रशेखर, नीलकण्ठ, भूतनाथ, रूद्र, त्रिलोचन, गिरीश, गंगाधर, उमापति,पशुपति, कैलाशपति, गिरजापति, कपर्दी, शितिकण्ठ, महेश्वरी, त्रिपुरारी. 
  • मछली- मत्स्य, शफरी, मीन, जल-जीवन, झष. 
  • मनीषी- विद्वान, ज्ञानी, पण्डित, विचारक, चिन्तक, निष्णात्, मुर्द्धन्य. 
  • मद- मदहोशी, नशा, मतवालापन, मादकता. 
  • मद- अहंकार, घमण्ड, दम्भ, गर्व, अभिमान. 
  • मदिरा- दारू, शराब, मधु, मद्य, मध्वासव, सोम, सुरा, हाला, आसव, माध्वाक, माध्विजा, वारूणी. 
  • मन- दिल, ह्रदय, जी, अंतःकरण, अन्तर, चित्त, मानस. 
  • मनगढ़न्त- कल्पित, काल्पनिक, खयाली, अवास्तविक, यथार्थरहित. 
  • मत- राय, सम्मति, धारणा, विचार, मन्तव्य. 
  • मतभेद- असहमति, असम्मति, विरोध, मतद्वैध, वैमनस्य. 
  • मनचाहा- इच्छित, मनोवांछित, यथेष्ट, यथेच्छ, अभिलाषित, अभीष्ट. 
  • मनोरम- मनोहर, सुन्दर, मनभावन, मंजुली, रमणीय, मनोज्ञ. 
  • मनोरंजन- आनन्द, मनबहलाव, मनोविनोद, तफरीह,
  •  आमोद-प्रमोद. 
  • मनुष्य- मानव, इन्सान, मनुज, मानुष, नर, मर्त्य. 
  • मरघट- श्मशान, चिताभूमि, प्रेतघाट, कब्रगाह. 
  • महक- सुगन्ध, खुशबू, वास, सुवास, परिमल. 
  • महावत- हाथीवान, महापात्र, पीलवान. 
  • मवाद- पीब, पस, पूय. 
  • महत्त्व- महत्ता, माहात्म्य, बड़ाई. 
  • महात्मा- महाशय, महापुरुष, माहामना, महानुभाव. 
  • मसौदा- प्रालेख, प्रारूप, पाण्डुलिपि. 
  • महिमा- गौरव, गरिमा, महत्ता, माहात्म्य, बड़ाई. 
  • मांगलिक- कल्याणकारी, शुभ, शुभकर, शुभदा, मंगलकारी, मंगलदायक. 
  • मातहत- अवर, निम्नपदस्थ, अधीन, अधीनस्थ. 
  • माया- छल, धोखा, प्रतारण, प्रपंच, अस्तित्वरहित. 
  • मान्य- समादरणीय, माननीय, सम्माननीय, पूज्य, पूजनीय, गणमान्य, कुलीन, श्रद्धेय. 
  • माँ- माता, मैया, माईं, अम्मा, मातु, जननी, जन्मदात्री, मातृ, मातरि, महतारी, जनयित्री, धात्री, प्रसू, अम्ब, अम्बिका. 
  • मार्मिक- हृदयस्पर्शी, मर्मस्पर्शी, हृदयविदारक, मर्मान्तक, मर्मभेदी. 
  • मीठा- मिष्ट, मधुर, स्वादु, सरस, सुरस. 
  • मिलन- मेल, मिलाप, सम्पर्क, भेंट, समागम, संयोग. 
  • मित्र- यार, दोस्त, सखा, मीत, हमदम, सुहृद. 
  • मुख- मुखड़ा, मुँह, वदन, चेहरा, आनन. 
  • मुख्य- प्रमुख, खास, प्रधान, प्रवर, वरेण्य. 
  • मुकदमा- केस, मामला, दावा, वाद, नालिश. 
  • मुक्त- आजाद, स्वतंत्र, स्वछन्द, खुला, छूटा, उन्मुक्त. 
  • मुनि- ऋषि, साधु, योगि, संत, तापस, तपस्वी, व्रती. 
  • मुग्ध- मोहित, आकृष्ट, आसक्त, तल्लीन, लुब्ध, आकृष्ट. 
  • मूर्ख- गँवार, अज्ञानी, जड़, मूढ़, निर्बुद्धि. 
  • मुर्गा- कुक्कुट, तमचुर, ताम्रचूड़, चरणायुध, अरुणशिखा. 
  • मार्ग- राह, पथ, डगर, सड़क, रास्ता, पंथ. 
  • मूँगा- प्रवाल, रक्तमणि, विद्रुम. 
  • मृत्यु- निधन, मौत, अन्तकाल, देहान्त, देहावसान, स्वर्गवास, शरीरान्त, प्राणान्त, ईन्तकाल. 
  • मेघ- बादल, पयोधर, धराधर, वारिधर, घन, वारिद, जीमूत, नीरद, पयोद, जगजीवन, अम्बुद, जलचर. 
  • मेधावी- बुद्धिमान्, प्रज्ञावान्, बुध, सुधी. 
  • मेढक- मण्डूक, दादुर, भेक, वर्षा-भू, चातक, वर्षाप्रिय, दर्दुर, शालू, शालूक. 
  • मैना- चित्राक्षी, चित्रनेत्रा, मदन, कलहप्रिया, सारिका. 
  • मैला- मलिन, गन्दा, अस्वच्छ, अशुद्ध, कलुषित. 
  • मेहनत- परिश्रम, मशक्कत, उद्यम, श्रम, अध्यवसाय, उद्योग, कर्मठता. 
  • मेहनती- परिश्रमी, उद्यमी, श्रमशील, अध्यवसायी, उद्योगी, कर्मठ. 
  • मोती- मुक्ता, शुक्तिज, स्वातिसुत, सीपिज, मौक्तिक. 
  • मैत्री- यारी, दोस्ती, मित्रता, सौहार्द, सख्यभाव. 
  • मोक्ष- मुक्ति, निर्वाण, अपवर्ग, अमृतत्व, कैवल्य, परमपद, परमगति, परमधाम, सद्गति. 
  • मोर- सारंग, मयूर, नीलकण्ठ, केकी, कलापी, हरि, शिखी, शिखण्डी, बर्हि, ध्वजी, भुजगारि, शिव-सुत-वाहन. 
  • मोहक- सुन्दर, मनहर, मनोहर, मनभावन, दिलकश, लुभावन, आकर्षक. 
  • मंजिल- लक्ष्य, पड़ाव, गन्तव्य. 
  • मौलिक- आधारभूत, मूलभूत, वास्तविक, असली, बुनियादी.
पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं
Synonym को हिंदी भाषा में पर्यावाची या समानार्थी कहते हैं. हिंदी भाषा में भी कुछ शब्द ऐसे होते हैं जिन का अर्थ दूसरे शब्द के लगभग समान अर्थ होते हैं उसे Synonym Word यानी पर्यावाची शब्द कहते हैं. पर्यावाची शब्द का परिभाषा – समान अर्थ रखने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द कहते हैं. उदाहरण के तौर पर अनुपम का मतलब अनोखा होता है और आदित्य का मतलब यूनिक होता है. अनुपम एवं आदित्य के लगभग समान अर्थ हैं इसलिए यह दोनों शब्द पर्यायवाची शब्द है. 
पर्यायवाची शब्दों का ज्ञान क्यों आवश्यक है?
लेखन में लगातार एक ही शब्द का प्रयोग करने से लेखन उबाऊ हो जाता है. जिससे पढ़ने वाले को नयापन नहीं लगता है. पढ़ने वाले की दृष्टि से अगर उसे पर्यायवाची शब्द का सही मतलब समझ में आएगा तो भाषा की समझ बेहतर हो जाती है. भाषा की सुंदरता एवं आदित्यता बनाए रखने के लिए पर्यायवाची शब्द का प्रयोग आवश्यक माना होता है. लेकिन इसका प्रयोग ध्यान पूर्वक करना चाहिए. उचित शब्दों का चयन करना अति आवश्यक होता है.

Similar Posts