इ – अक्षर से पर्यायवाची शब्द

अक्षर से पर्यायवाची शब्द निम्नलिखित हैं. 

  • इच्छा- लालसा, मनोरथ चाह,उत्कंठा, वाञ्छा, रुचि, अभिलाषा, आकांक्षा, कामना, तृष्णा, मर्जी, स्पृहा, लिप्सा. 
  • इन्द्राणी- मद्यावानी, शतावरी, पौलोमी, इन्द्रवधू, इन्द्रा, शची, पुलोमजा.  
  • इन्द्र- पुरन्दर, कौशिक, देवराज, सुरपति, शचीपति, मधवा, शक,
  •  मेघपति, सुरेन्द्र, सहस्राक्ष, अमरपति, जिष्णु, सुरेश,पुरहुत, बिबुधेश, वज्रधर. 
  • इन्द्रधनुष- इन्द्रधनु, सूरचाप, धनुक, शक्रचाप, सप्तकर्ण धनु. 
  • इनाम- परितोषिक, उपहार, पुरस्कार.  
  • इन्द्रपुरी- देवेन्द्रपुरी, सुरपुर, देवलोक, अमरावती, इन्द्रलोक. 
  • इठलाना- शान दिखाना, शेखी मारना, ऐंठना, इतराना,
  • इच्छुक- उत्सुक, उत्कंठित, अभिलाषी, लालायित, आतुर.  
  • इशारा- इंगित, सैन, निर्देश, संकेत. 
  • इन्कार- अस्वीकृति, अवंगीकरण, प्रत्याख्यान, अवंगीकार, निषेध.  
पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं
Synonym को हिंदी भाषा में पर्यावाची या समानार्थी कहते हैं. हिंदी भाषा में भी कुछ शब्द ऐसे होते हैं जिन का अर्थ दूसरे शब्द के लगभग समान अर्थ होते हैं उसे Synonym Word यानी पर्यावाची शब्द कहते हैं. पर्यावाची शब्द का परिभाषा – समान अर्थ रखने वाले शब्दों को पर्यायवाची शब्द कहते हैं. उदाहरण के तौर पर अनुपम का मतलब अनोखा होता है और आदित्य का मतलब यूनिक होता है. अनुपम एवं आदित्य के लगभग समान अर्थ हैं इसलिए यह दोनों शब्द पर्यायवाची शब्द है. 
पर्यायवाची शब्दों का ज्ञान क्यों आवश्यक है?
लेखन में लगातार एक ही शब्द का प्रयोग करने से लेखन उबाऊ हो जाता है. जिससे पढ़ने वाले को नयापन नहीं लगता है. पढ़ने वाले की दृष्टि से अगर उसे पर्यायवाची शब्द का सही मतलब समझ में आएगा तो भाषा की समझ बेहतर हो जाती है. भाषा की सुंदरता एवं आदित्यता बनाए रखने के लिए पर्यायवाची शब्द का प्रयोग आवश्यक माना होता है. लेकिन इसका प्रयोग ध्यान पूर्वक करना चाहिए. उचित शब्दों का चयन करना अति आवश्यक होता है.
close

You cannot copy content of this page