Abhipray Ka Paryayvachi Shabd यहां पर मिलेगा

Abhipray Ka Paryayvachi Shabd

Abhipray Ka Paryayvachi Shabd Kya Hai? आइए पूरे विस्तार से पर्यायवाची शब्दों को जानते हैं इससे पहले तस्वीर को देख लीजिए.

Abhipray Ka Paryayvachi Shabd
Abhipray Ka Paryayvachi Shabd

अभिप्राय का पर्यायवाची शब्द निम्नलिखित है

  • अर्थ
  • हेतु
  • तात्पर्य
  • मायने
  • मतलब
  • आशय. 

Abhipray Related Hindi To English Meaning 

  • अर्थ – meaning
  • हेतु – behalf
  • अभिप्राय – intent
  • तात्पर्य – meaning
  • मायने – Meaning
  • मतलब – Meaning
  • आशय – import
  • व्याख्या – interpretation
  • विवेचन – interpretation. 

अभिप्राय का मुख्य पर्यायवाची शब्द – आशय, अर्थ, तात्पर्य, मायने, मतलब आदि है.

प्रसिद्ध पर्यायवाची शब्द Animals Paryayvachi
पर्यायवाची शब्द क्या होता है?

समान अर्थ रखने वाले शब्द पर्यायवाची शब्द कहलाते हैं. चूँकि इनके अर्थ में समानता अवश्य रहती हैं. परंतु इनका प्रयोग विभिन्न प्रकार से होता है.

पर्यावाची शब्दों के प्रकार
  • आचार्य रामचंद्र शुक्ल के अनुसार, पर्यायवाची शब्द तीन प्रकार के होते हैं.
  • पूर्ण – वाक्य में यदि एक शब्द के स्थान पर दूसरे शब्द को रखा जाए उसके अर्थ में कोई अंतर न पड़ता हो, तो वह शब्द उसका पूर्ण पर्याय कहलाता है.
  • पूर्णापूर्ण – दूसरे शब्दों में जब एक प्रसंग का समानार्थी शब्द दूसरे प्रसंग में असमानता अर्थ का बोध स्पष्ट करता हो तो उस शब्द को पूर्णापूर्ण पर्याय कहते हैं.
  • अपूर्ण – कोई भी व्यक्ति शब्दों के अर्थ की छाया बदल-बदल कर अपने-अपने ढंग से प्रयोग करता है और उसके विषय की व्यापकता के परिपेक्ष्य में उसी शब्दों का प्रयोग नये में अर्थ में होने लगता हो, उस शब्द को अपूर्ण पर्याय कहते हैं.
पर्यायवाची शब्द का प्रयोग क्यों होता है?

पर्यायवाची शब्द का प्रयोग विभिन्न प्रकार से होता है. जिसके कारण एक ही व्यक्ति अथवा वस्तु का नाम उसके विभिन्न गुणों एवं धर्मों के अनुरूप करना होता है.

क्योंकि एक ही नाम सभी स्थानों पर उपयुक्त नहीं होता है.

पर्यायवाची शब्द का प्रयोग सावधानी पूर्वक करना चाहिए

कामिनी-जगत एवं नारी-जगत दोनों ही पर्यावाची शब्द हैं. कामिनी जगत के जगह नारी जगत का प्रयोग करना कितना हास्यास्पद है.

इसीलिए कहा जाता है कि पर्यायवाची शब्दों के सही मतलब समझिए. तभी पर्यायवाची शब्द का प्रयोग उसके विभिन्न गुणों एवं धर्मों के अनुरूप करें.

close

You cannot copy content of this page